Dost purane mere…

अब ना मैं हूँ, ना बाकी हैं ज़माने मेरे​,
फिर भी मशहूर हैं शहरों में फ़साने मेरे​,
ज़िन्दगी है तो नए ज़ख्म भी लग जाएंगे​,
अब भी बाकी हैं कई दोस्त पुराने मेरे..!!

– राहत इंदौरी

Read More

Imtihaan…

मुश्किलों से भाग जाना आसान होता है,
हर पहलु जिंदगी का इम्तहान होता है,
डरने वालो को मिलता नहीं कुछ जिंदगी में,
लड़ने वालों के कदमों में जहान होता है।

Read More