Tere na hone se…


तेरे ना होने से ज़िंदगी में,
बस इतनी सी कमी ? रहती है,
मै चाहें लाख़ ?मुस्कुराऊं,
इन आंखों में ?नमी सी रहती है..!!