Love shayari, Dil ki aawaaz me


ख़ुदा करे कि इस दिल की आवाज़ में इतना असर हो जाए,
हम जिसकी याद में तड़प रहे हैं उसे ख़बर हो जाए।

Khuda kare ki is dil ki aawaaz me itana asar ho jaye,
ham jiski yaad me tadap rahe hai,
use khabar ho jaye.

न जाने क्यों वो हमसे मुस्कुरा कर मिलते हैं,
अंदर के सारे गम छुपा कर मिलते हैं,
वो जानते हैं शायद नजरे सच बोलती हैं,
इसलिये वो हमसे नजरे झुका कर मिलते हैं

Na jaane kyu wo hamase muskura kar milate hain,
Andar ke saare gam chhupa kar milate hain,
Wo jaanate hai shaayad najare sach bolatee hain,
Isaliye wo hamase najare jhuka kar milate hai.

हजारो मेहफिल है लाखो मेले है,
पर जहां तुम नहीं वहा हम अकेले है!

Hajaaro mehfil hai laakho mele hai,
par jaha tum nahi waha ham akele hai!

खुदा ने नवाज़ा है तुझे,
मोहब्बत के हर नूर से,
दिल दे बैठेगा हर दीवाना,
चाहे देखे वो तुझे कोसो दूर से।

Khuda ne nawaaza hai tujhe,
mohabbat ke har noor se,
Dil de baithega har diwaana,
chaahe dekhe wo tujhe koso door se.

 हम भी मोहब्बत करते हैं पर बोलते नही,
क्योंकि हम रिश्ते निभाते है, तौलते नही…!

Ham bhi mohabbat karate hai par bolate nahi,
Kyoki ham rishte nibhaate hai, taulate nahi…!

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>