Love shayari, Dhadkan me utar jaayenge


चुपके से आकर धड़कन में उतर जायेंगे,
राहें उल्फत में हद से गुजर जायेंगे,
आप जो हमें इतना चाहेंगे,
हम तो आपकी साँसों में पिघल जायेंगें।

Chupake se aakar dhadkan me utar jaayenge,
raahe ulfat me had se gujar jaayenge,
aap jo hamen itana chaahenge,
ham to aapaki saanso me pighal jaayenge.

तुझसे दूर रहकर…. मोहब्बत बढ़ती जा रही है,
कैसे कहूं कि ये दूरियां…. हमें और करीब ला रही है।

Tujhse door rahakar…. mohabbat badhati ja rahi hai,
kaise kahu ki ye dooriyaan…. hame aur karib la rahi hai.

जरा छू लूँ तुमको तो मुझे यकीं आ जाये,
लोग कहते हैं मुझे साये से मोहब्बत है।

Jara chhu lu tumako to mujhe yakin aa jaaye,
log kahate ha mujhe saaye se mohabbat hai.

खड़े-खड़े साहिल पर हमने शाम कर दी,
अपना दिल और दुनिया आप के नाम कर दी,
ये भी न सोचा कैसे गुज़रेगी ज़िंदगी,
बिना सोचे-समझे हर ख़ुशी आपके नाम कर दी।

Khade-khade saahil par hamane shaam kar di,
apana dil aur duniya aap ke naam kar di,
ye bhi na socha kaise guzaregi zindagee,
bina soche samajhe har khushi aapake naam kar di.

बाहों के दरम्यां अब कोई दूरी ना रहे,
सीने से लगा लो मुझे, अब कोई चाहत अधूरी न रहे।

Baahon ke daramiyan ab koi dori na rahe, seene se laga lo mujhe,
ab koee chaahat adhooree na rahe.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>